background preloader

Ghareluayurvedic

Facebook Twitter

ghareluayurvedicupay

Find & read desi ayurvedic gharelu nuskhe, desi nuskhe in Hindi,gharelu ayurvedic upay, gharelu nuskhe, प्रेग्नेन्सी टिप्स and more at www.ghareluayurvedicupay.com

बारिश के मौसम में सीजनल फ्लू, वायरल या खांसी-जुकाम से कैसे बचें बारिश का मौसम अपने साथ कई बीमारियों की सौगात लाता है.

बारिश के मौसम में सीजनल फ्लू, वायरल या खांसी-जुकाम से कैसे बचें

इस बदलते मौसम बुखार, खांसी, जुकाम और फ्लू जैसी बीमारियां ज्यादा होती हैं. बारिश के मौसम में हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है. Gharelu Ayurvedic Upay. खाँसी एक बहुत ही साधारण स्वास्थ्य समस्या है | परंतु यदि सही समय पर इसका इलाज न किया गया तो यह समस्या बड़ी बीमारी जैसे- तपेदिक (Tuberculosis), कैंसर आदि का रूप धारण कर लेती है | खाँसी के कारण (Causes of Cough or Khasi) खाँसी की कई कारण होते हैं | सर्दी के दिनों में अकसर लोगों को खाँसी का शिकार होना पड़ता है | बदलते मौसम की वजह से भी प्रायः सर्दी और खाँसी जकड़ लेता है | कुछ लोगों को धूल की वजह से भी खाँसी आने लगता है | जिसे Dust Allergy भी कहते हैं | खाँसी संक्रामक (communicable) भी होता है | ऐसा देखा जाता है कि परिवार में एक व्यक्ति को यह समस्या होने पर अन्य सदस्यों को भी प्रभावित करता है | ऐसा भी माना जाता है कि आपके नियमित कार्यक्रम (Daily routine) में यदि अनियमितता आ जाए तो उसकी वजह से भी खाँसी पकड़ लेता है | कमर दर्द का घरेलू उपाय | kamar dard ke gharelu upay खाँसी के प्रकार (types of khasi)

Gharelu Ayurvedic Upay

Khansi ke 10 gharelu upay. खांसी एक प्रकार की मौसमी बीमारी है, और यह मौसम के साथ हमारे शरीर को ग्रस्त कर देती है।

khansi ke 10 gharelu upay

यह बीमारी हमारे शरीर में फेफड़ों पर सबसे ज्यादा प्रभाव डालती है, और खासी ज्यादातर सर्दी जुखाम के कारण ही होती है। सर्दी जुकाम से राहत मिलते हैं। खासी से भी राहत मिल जाती है, लेकिन कभी-कभी खासी हमारे शरीर को ज्यादा ग्रस्त कर लेती हैं, और वह खत्म होने का नाम भी नहीं लेती है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से खांसी से छुटकारा पाने के 10 घरेलू उपाय (gharelu upay) के बारे में बताएंगे जिनका उपयोग करके आप खांसी से राहत पा सकते हैं। 1. Ghar Par Pregnancy Test Kaise Kare in Hindi. मां का नाम सुनते ही हमारी दुनिया साकार नजर आती है।

Ghar Par Pregnancy Test Kaise Kare in Hindi

ऐसा लगता है मानो हमारी सारी उलझन एक मां के सामने छोटी हो गई हो। मां बनना एक स्त्री को संपूर्णता की ओर ले जाता है। जब स्त्री गर्भवती होती है, तो उसे खुद का ध्यान रखने की नसीहत दी जाती है। प्रेगनेंसी week क्या होती है और कैसे चेक करें Gharelu Ayurvedic Upay. महिला के प्रेग्नेंट होने के लक्षण का पता लगने पर डॉक्टर द्वारा जांच करवाई जाती है जिसके अंदर डॉक्टर द्वारा बताया जाता है कि प्रेग्नेंट हुए महिला को कितना समय हो गया है या कितना विक हो चुके हैं।

प्रेगनेंसी week क्या होती है और कैसे चेक करें Gharelu Ayurvedic Upay

इसमें महिला के प्रेगनेंसी के 10 सप्ताह बाद में यह प्रक्रिया शुरू की जाती है। 10 सप्ताह के अंदर बच्चे की आकार और हरकतों को देखते हुए पता लगाया जाता है कि बच्चे कि वीक में चल रहा है। Pregnancy week कैसे चेक करें। | pregnancy test Kaise Hota hai महिला को अपने मां बनने पर खुशी मिलती है। प्रेगनेंसी क्या है, Pregnancy ke suruati lakshan kya hote hai, कैसे रोक सकते हैं महिलाओं को कई बार अपने प्रेग्नेंट होने का पता नहीं चलता है।

प्रेगनेंसी क्या है, Pregnancy ke suruati lakshan kya hote hai, कैसे रोक सकते हैं

महिलाएं अपने आने वाले पीरियड के समय पर नहीं होने के कारण कई बार चिंता में पड़ जाती है। हालांकि महिला द्वारा किसी भी तरह का सेक्स नहीं करने पर भी महिलाओं के पीरियड्स में बदलाव हो सकते हैं। यदि किसी महिला या पुरुष पुरा सेक्स करने के बाद महिला को लगता है कि वह प्रेग्नेंट है या हो सकती है तो उसके कुछ शुरुआती लक्षण महिला को दिख जाते हैं। गर्भावस्था के दौरान बवासीर का घरेलू इलाज. गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है, जिनमे से एक Piles या बबासीर की समस्या है।

गर्भावस्था के दौरान बवासीर का घरेलू इलाज

कई महिलाएं इस तरह की पीड़ादायक समस्या का सामना करती है। बबासीर के दौरान महिलाओं के गुदाद्वार की नसों में सूजन आ जाता है। यह सूजन न सिर्फ बाहरी नसों में होती है, बल्कि साथ मे अंदरूनी नसों में भी होती है, जिससे मल त्याग के दौरान बहुत ज्यादा दर्द होता है। इस समस्या के इलाज में के लिए कई महिलाएं काफी भारी भरकम खर्च करती हैं, लेकिन यदि आप चाहे तो इस समस्या का इलाज घर पर भी कर सकते हैं। आज हम आपको इस आर्टिकल में बताने जा रहे हैं, की गर्भावस्था के दौरान बबासीर का घरेलू उपचार कैसे करें। प्रेगनेंसी के दौरान कब्ज के घरेलू उपचार. प्रेगनेंसी के समय महिला को कई तरह की शारीरिक और मानसिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

प्रेगनेंसी के दौरान कब्ज के घरेलू उपचार

इस दौरान महिला के शरीर में कई परिवर्तन आते हैं और पाचन तंत्र भी गड़बड़ा जाता है इसलिए बहुत सी महिलाओं को कब्ज़ की शिकायत हो जाती है। कब्ज़ बढ़ने पर बवासीर और गुदा विदर जैसी समस्या भी हो सकती है इसलिए जल्द ही उपचार कर लेना बेहतर होता है। Gharelu Ayurvedic Upay. आज के इस दौर में हम मनुष्य खुद को बिल्कुल स्वस्थ रखना चाहते हैं लेकिन इस बदलती हुई आधुनिक जीवन शैली में हमारे खान पान, रहन सहन के तरीकों की वजह से कई प्रकार की बीमारियों से सामना हो ही जाता है।

Gharelu Ayurvedic Upay

ना चाहते हुए भी हम उन बीमारियों से दूर नहीं रहते हैं। कई बार ऐसा भी होता है कि हम छोटी सी समस्या को बढ़ा देते हैं और बाद में बहुत सी समस्याओं का सामना भी करना पड़ता है। इनमें से एक मुख्य समस्या सूखी खांसी की है, जो बहुत ही गंभीर समस्या हो सकती है। क्या है सूखी खांसी | Kya Hai Sukhi Khansi. Bawasir ka gharelu upchar. रोजमर्रा के जीवन में हमें कोई ना कोई शारीरिक परेशानी घेरे रहती है।

bawasir ka gharelu upchar

कभी-कभी तो हमारी परेशानी दवाइयों से ठीक हो जाती है तो कभी लंबे इलाज का सहारा लेना पड़ता है। इन शारीरिक परेशानियों से मानसिक अवचेतन, चिड़चिड़ापन आसानी से देखा जा सकता है। आपने आज तक बहुत सारे ऐसे रोगों के बारे में सुना होगा जो हमें मानसिक परेशानी के साथ साथ शारिरीक परेशानी भी देते हैं। आज हम ऐसे रोगों की बात करेंगे जिन्हे घरेलू उपाय से ही आप ठीक हो सकते हैं और वह रोग है बवासीर का। Aciditi ke gharelu upay. आज के आधुनिक युग में जहां लोग नित नए नए आयाम प्राप्त कर रहे हैं। पिछले कुछ दशकों में लोगों का रहन-सहन, खान-पान, जीवन शैली में बदलाव देखा जा रहा है तो वहीं लोगों में मानसिक और शारीरिक विकृति भी देखी गई है। शारीरिक समस्याओं की बात की जाए तो बहुत सी ऐसी परेशानियां हैं, जो हमारे दैनिक क्रियाकलापों में बाधा उत्पन्न करती है। Gharelu Ayurvedic Upay. आज के दौर में अगर आप खुद को फिट बनाना चाहते हैं, तो ऐसे में खुद को ऐसे परिवेश में ढालना होगा जिस के अनुरूप आप खुद में बदलाव ला सके और फिट बन सके। आज के इस प्रदूषण युक्त माहौल में खुद को सही दिशा में आगे बढ़ाने के आप इच्छुक हैं तो इसके लिए आपको अपनी guduchi se immunity को मजबूत करने की आवश्यकता होगी।

इम्यूनिटी बढा़ने की दौड़ में गुडुची (Guduchi) आपके लिए बहुत ही फायदेमंद होगा, जो प्रत्येक आयु वर्ग के लोग इस्तेमाल कर सकते हैं। क्या है गुडुची | Guduchi Kya hai. Pregnancy me immunity power kaise badhaye. मां बनना हर औरत का सपना होता है। मां बनने से औरत को संपूर्ण माना जाता है। एक औरत के जीवन में एक पल ऐसा भी आता है, जब वह ऐसे दौर से गुजरती है जब सारी दुनिया की खुशी अपने पास ही पाती है। मां बनना किसी भी औरत के जीवन का महत्वपूर्ण मोड़ होता है पर ऐसे समय में खुद का ख्याल रखने की भी जरूरत होती है। ऐसे में बहुत जरूरी है कि अपने खान-पान दिनचर्या को ध्यान में रखते हुए इम्यूनिटी पर पूरा ध्यान दिया जाए। Pregnancy Me Kya Karna Chahiye. प्रेगनेंसी महिला के जीवन का वह दौर है जिसे प्राप्त करना हर महिला की असीम चाहत होती है।

सौभाग्यशाली महिलाओं को यह वरदान भी प्राप्त होता है। सामान्य रूप से देखा जाता है कि इंसान के स्वभाव में परिवर्तन होता रहता है और जब महिला प्रेग्नेंट होती है, तो उनके स्वभाव के कई प्रकार के परिवर्तन देखे जा सकते हैं। कई बार ऐसा भी होता है कि महिलाएं ऐसे समय में क्या करें समझ ही नहीं पाती, तो ऐसे में हम आपकी समस्या को सुलझाने का प्रयास करेंगे। Gharelu Ayurvedic Upay. शादी के कुछ सालों बाद हर महिला मां बनना चाहती है। मां बनना प्रकृति की अनुपम सौगात है, जो स्त्री को पूर्णता की ओर ले जाती हैं। किसी कारणवश महिला मां नहीं बन पाती तो कई प्रकार की उलझनें घर करने लगती हैं। ऐसी स्थिति में अपने ओवुलेशन पीरियड पर ध्यान देने की आवश्यकता होगी तभी सफलता भी मिल पाएगी। कम बजट में घर में ही कैसे बनाएं जिम. Wazan kam karne ka tarika. प्रेगनेंसी के बाद वजन कम करने के उपाय. Gharelu Ayurvedic Upay. Gharelu Ayurvedic Upay. Gharelu Ayurvedic Upay. Gharelu Ayurvedic Upay.

High blood Pressure ke gharelu upay. Gharelu Ayurvedic Upay. Cough ka gharelu Upchar. Lambai badhane ke gharelu upay. Gharelu Ayurvedic Upay. Patle Hone KE Gharelu Upay. Sehat banane ke gharelu nuskhe. Mota hone ke gharelu tarike & Upay. Low BP ke Gharelu Upay in Hindi. Kamar dard ke gharelu upay. Gharelu Ayurvedic Upay. Pimple Hatane Ka Gharelu Upay. Gharelu Ayurvedic Upay. Gharelu Ayurvedic Upay.